जन्माष्टमी की हार्दिक बधाई शुभकामनाएं💐💐💐💐💐
2222 1222

मूरत मन में सजा बैठे.
सब हाले दिल बता बैठे.
अब क्या बतलाए कान्हा जी
हम तुमसे दिल लगा बैठे……..
तन मन तुझमें गवां बैठे ………
हम तुझमें दिल लगा बैठे…….

बेचैनी तुम छिन लिए क्यूँ .
दूर उड़ा भाप हो गम यूँ.
भूल गये दर्द क्या होते.
जब से अपना बना बैठे.
हम तुमसे दिल लगा बैठे……….

आलम हरदम रहा रोता.
शै वीराना भरा होता.
पाने की आरजू तुमको.
दहशत-ए-हिज्र भुला बैठे.
हम तुमसे दिल लगा बैठे…….

ज्यूँ सूखे सजर जान नया.
रौनक रौशन किया दुनिया.
रहमत की तरबतर बारिश.
सतरंग नूर नहा बैठे.
हम तुमसे दिल लगा बैठे………

जन्नत है याद में तेरी.
कान्हा तुम सांस हो मेरी.
तेरी खातिर सुनो रसिया.
उल्फ़त में नाम कमा बैठे.
हम तुझपे दिल लगा बैठे……

कोई दस्तक नही आहट.
लेकिन आते लिए चाहत.
रग रग में छाए जाते हो.
दरवाजा दिल हटा बैठे.
हम तुमसे दिल लगा बैठे…….

____@ममता तिवारी “ममता”

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.