Month: July 2022

कभी कभी

कभी कभी , सुलझे हुए रिश्ते भी उलझ जाते है अनेकों बार।। फिर जज्बात भी मर जाते है, और चून लेते है वो हार।। हर कदम किसीको समझना मुमकिन नहीं…

बात आखिरी होगी

जाने कौन सी मुलाकात आखिरी होगी, जाने कौन सी रात आखिरी होगी, इल्म नहीं है अभी, उससे मिलन का फिर न जाने कौन सी बात आखिरी होगी, आंखों को है…