Author: admin

मेरे मन का आइना है

मेरी कविता…. मेरे मन का आइना है, कभी यथार्थ, कभी कल्पना है शब्दों से उकेरती हूँ पंक्तियां, जैसे जीवन की कोई गतिविधियाँ| मेरी कविता… मेरे सपनों को देती है उड़ान,…

सुनो नारियो

सुनो नारियो आज इक बात हम न जश्न मनाएंगे देते आज महिला दिवस पे बधाई हम ठुकराएंगे हैं ये महिशासूर आज बधाई देके कल भूल जाएंगे और फिर हम माँ…