Category: काव्य रचना

ज़ख्म जब मेरे

ज़ख्म जब मेरे सीने के भर जाएंगे, आंसू भी मोती बन के बिखर जाएंगे, ये मत पूछना किसने दर्द दिया, वरना कुछ अपनों के सर झुक जाएंगे। दिल के दर्द…

खो गए थे हम

भूल कर दुनिया खुद से मुलाकात करते हैं। आज फिर खुद से खुद की ही बात करते हैं। खो गए थे हम कहीं जमाने की आबोहवा में, रह गए कुछ…

संपूर्ण रामायण प्रमुख धार्मिक महाकाव्य है

संपूर्ण रामायण प्रमुख धार्मिक महाकाव्य है हमारा। प्रतिदिन अध्ययन करने मात्र से सुख मिलता सारा।। सम्पूर्ण रामायण में वैसे तो हैं कई कांड और अध्याय। पर तुच्छ प्रयास किया कि…

तोड़ के पिंजरा उड़ जाएगी,

तोड़ के पिंजरा उड़ जाएगी, सोनचिरैया उस दिन आत्मविश्वास और स्वाभिमान के, पर पाएगी जिस दिन। स्वच्छंदता और स्वतंत्रता का, जब अर्थ समझ आएगा फिर कोई सय्याद ना उसको, कैद…

विश्व कविता दिवस

विश्व कविता दिवस की सभी रचनाकारों को हार्दिक शुभकामनाएं। सभी रचनाकार उत्तरोत्तर प्रगति करते रहें, यही है कामनाएं। कविताएं मन के भावों को व्यक्त करने का जरिया होती हैं। यह…